Rashtriya Swasthya Bima Yojana Kya Hai In Hindi

Rate this post

Rashtriya Swasthya Bima Yojana Kya Hai

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारम्भ केंद्र सरकार द्वारा देश के गरीब नागरिको को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया गया है ।इस योजना के तहत जो गरीब लोग असंगठित क्षेत्रो के कामगार(Poor people who are working people in unorganized sectors ) लोग है । उन्हें चिकित्सा सुरक्षा प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा  30000 रूपये की धनराशि का स्वास्थ्य  बीमा प्रदान (Health insurance provided by the central government to provide medical protection to them )  किया जायेगा । National Health Insurance Scheme  की सहायता से, सरकार अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में देश के गरीब नागरिको को  कैशलेस उपचार प्रदान करने का मार्ग प्रशस्त करेगी।

देश में असंगठित श्रमिकों के लिए श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा वर्ष 2008 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई थी। यह विचार गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को सर्वोत्तम स्वास्थ्य सेवाओं के साथ प्रदान करने का है और सामाजिक सुरक्षा।

यह योजना गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को बुढ़ापे, मातृत्व, विकलांगता और सामान्य बीमारियों के संबंध में स्वास्थ्य खतरों के शासन के लिए शहर में सर्वोत्तम चिकित्सा सुविधाओं तक पहुंच प्राप्त करने में मदद करने के लिए डिज़ाइन की गई है। आरएसबीवाई योजना को बाद में विस्तारित किया गया इन लाभों को असंगठित श्रमिकों को उपलब्ध कराना जो गरीबी रेखा से मामूली ऊपर हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, भारत में वर्ष 2014 में स्वास्थ्य पर कुल व्यय का 62 प्रतिशत व्यय लोगों द्वारा अपनी जेब से (आउट ऑफ पॉकेट) किया गया था। कुल स्वास्थ्य व्यय में आउट ऑफ पॉकेट व्यय के प्रतिशत के मामले में भारत 192 देशों में से 182 वें स्थान पर था।

सामाजिक सुरक्षा और सभी के लिए स्वास्थ्य देखभाल का आश्वासन प्रदान करना भारत सरकार का आदर्श रहा है और इस संबंध में सरकार ने विभिन्न कदम उठाए हैं। भारत में स्वास्थ्य पर व्यय के दो तिहाई से अधिक आउट ऑफ पॉकेट (ओओपी) व्यय है जो स्वास्थ्य पर खर्च करने का सबसे अकुशल और गैर जिम्मेदाराना तरीका है।

सरकार को अकेले सप्लाई साइड वित्त पोषण (फाइनेंसिंग) से स्वास्थ्य पर ओओपी व्यय को कम करने में सफलता नहीं मिली है, सरकारी तंत्र की असफलता का ही परिणाम है कि लोग निजी हॉस्पिटलों में जाकर अनाप शनाप खर्च उठाने को मजबूर रहे हैं।

इसलिए, मांग पक्ष के वित्त पोषण के दृष्टिकोण का परीक्षण करने के लिए, भारत सरकार ने स्वास्थ्य पर ओओपी व्यय को कम करने और स्वास्थ्य देखभाल तक पहुंच बढ़ाने के उद्देश्यों के साथ गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों (बीपीएल) के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई), एक सरकारी हेल्थ इन्शुरन्स स्कीम शुरू करने का निर्णय लिया।

इस लेख में राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में विस्तार से यह बताया गया है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना क्या है, इसके लाभ, लाभार्थी सूची, स्मार्ट कार्ड, हॉस्पिटल लिस्ट और आप इस योजना का फायदा कैसे ले सकते हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए नामांकन के लिए पात्रता मानदंड

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत नामांकन तभी संभव है जब आवेदक निम्नलिखित मानदंडों में से प्रत्येक को पूरा करता है:

  • आवेदक को एक असंगठित क्षेत्र के लिए काम करना चाहिए जो गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों का एक हिस्सा है। आवेदक को जिला बीपीएल सूची में शामिल किया जाना चाहिए।
  • गरीबी रेखा से मामूली ऊपर आवेदक आरएसबीवाई कवरेज के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। कल्याणकारी बोर्डों के तहत पंजीकृत लोग भी आवेदन करने के पात्र हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की विशेषताएं

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की कुछ मुख्य विशेषताएं नीचे दी गई हैं:

  • असंगठित श्रमिक अस्पताल में भर्ती होने से संबंधित 30,000 रुपये तक का खर्च प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।
  • प्रीमियम का शुल्क केंद्र सरकार और संबंधित राज्य सरकार द्वारा भुगतान किया जाता है।
  • इस स्कीम के तहत कवरेज के लिए कोई आयु सीमा नहीं है।
  • इस कवरेज के लाभार्थियों को पंजीकरण के लिए 30 रुपये का भुगतान करना होगा।
  • यह योजना चिकित्सा आपात स्थिति की स्थिति में गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के जेब खर्च को कम करने के लिए है।
  • इस योजना में लाभार्थियों की पहले से मौजूद शर्तों को भी शामिल किया गया है।
  • यह योजना एक फैमिली फ्लोटर कवर है, जो परिवार में सभी के लिए पूर्ण चिकित्सा कवरेज प्रदान करती है।
  • आरएसबीवाई योजना हितधारकों के लिए प्रोत्साहन प्रदान करती है जिसका अर्थ है कि बीमाकर्ता को नामांकित सदस्यों की संख्या के लिए सरकार से प्रोत्साहन मिलता है।
  • बीमित परिवारों को एक स्मार्ट कार्ड जारी किया जाएगा जिसमें बीमित व्यक्ति का बायोमेट्रिक विवरण होगा।
  • यह योजना एक डेटा प्रबंधन प्रणाली का उपयोग करके बनाई गई है जो देश भर में लेनदेन पर नज़र रखने और समय-समय पर रिपोर्ट भेजने के लिए जिम्मेदार है।

Rashtriya Swasthya Bima Yojana Highlights

योजना का नामराष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना
इनके द्वारा शुरू किया गयाकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के गरीब लोग
उद्देश्यगरीब नागरिको को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttp://www.rsby.gov.in/how_works.html

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है की देश में बहुत से ऐसे लोग है जो आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण बीमार होने पर अपना इलाज नहीं करवा पाते है ।जिसकी वजह से कभी कभी लोगो की मृत्यु हो जाती है ।इस सभी परेशानियों को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा इस Rashtriya Swasthya Bima Yojana को शुरू किया गया है ।

इस योजना के तहत देश के असंगठित क्षेत्रो के आर्थिक  रूप से कमज़ोर कामगार लोगो को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना । जिसके ज़रिये सभी लोग अपना इलाज सूचीबद्ध अस्पतालों में निशुल्क इलाज करवा सके । राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के ज़रिये स्‍वास्‍थ्‍य आघातों से उत्‍पन्‍न वित्तीय देयताओं से गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को सुरक्षा प्रदान करना है, जिसमें अस्‍पताल में भर्ती करना शामिल है।

Rashtriya Swasthya Bima Yojana के लाभ

  • इस योजना का लाभ असंगठित क्षेत्रो के परिवार उठा सकते है ।
  • Rashtriya Swasthya Bima Yojana के तहत असंगठित क्षेत्रो के कामगार लोगो को सरकार द्वारा 30000 रूपये का स्वास्थ्य बीमा प्रदान  किया जायेगा ।
  • असंगठित क्षेत्र के कामगार और उनके परिवार (पांच की इकाई) को इस योजना के तहत शामिल किए जाएंगे।
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बीमा कवर केवल एक वित्तीय वर्ष के लिए मान्य होगा। कैशलेस चिकित्सा उपचार लाभ प्राप्त करने के लिए, पॉलिसी धारक को सालाना आधार पर कार्ड को नवीनीकृत करना होगा।
  • केंद्र और राज्य सरकार चिकित्सा बीमा प्रीमियम प्रदान करेगी। लाभार्थी को केवल 30 रुपये का भुगतान करना होगा। इस राशि का उपयोग कार्ड के नवीनीकरण के लिए किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत निशुल्क इलाज  केवल उन हो अस्पताओं में मिलेगा जो सरकार द्वारा चुने जाएगी ।
  • इस योजना से लगभग 10 करोड़ गरीब और कमजोर परिवारों और 05 लाख तक के इलाज का लाभ मिल सकेगा। अभी तक इस योजना के अंतर्गत, परिवारों को उपचार के लिए 30,000 रुपये का कवर प्रदान किया जाता है। इसके लिए देश भर मे 1.5 लाख से ज्यादा हेल्थ वेलनेस सेंटर खुलेंगे। जिसमे बीमारियों की जांच और उनसे निपटने की जानकारी के साथ नियंत्रण की खास ट्रेनिग भी दी जाएगी |

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की पात्रता

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए ।
  • कैशलेस चिकित्सा बीमा का लाभ उन लोगों को दिया जाएगा जो गरीबी रेखा से नीचे (Below Poverty Line – BPL) की श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। इस प्रकार, जो लोग निम्न आय वर्ग के परिवार से सम्बन्ध रखते है और जिनके पास बीपीएल कार्ड हैं,।
  • इस योजना के तहत असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों का वेतन पैकेज बहुत अधिक नहीं है।उन्हें बीच इस योजना के तहत पात्र माना जायेगा ।
  • असंगठित क्षेत्र के कामगार जो बीपीएल श्रेणी में आते हैं और उनके परिवार के सदस्‍य (पांच सदस्‍यों की परिवार इकाई) को योजना के तहत् लाभ मिलेंगे।
  • यदि बीमा धारक कैशलेस सुविधा प्राप्त करना चाहते हैं, तो उन्हें अस्पताल के काउंटर पर स्मार्ट कार्ड प्रदान करना होगा। इस कार्ड के बिना, लाभ प्राप्त नहीं किया जा सकता है।
  • पॉलिसी धारक को कार्ड प्राप्त करने के लिए 30 रुपये का भुगतान करना होगा।

Rashtriya Swasthya Bima Yojana के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बीपीएल प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए बीमा कवरेज

इस योजना के तहत नामांकित प्रत्येक परिवार को 30,000 रुपये तक का हेल्थ इन्शुरन्स कवरेज मिलता है। इस योजना में गरीबी रेखा से नीचे के 5 सदस्यों को शामिल किया गया है। परिवहन प्रभार के लिए कवरेज अर्थात अस्पताल में प्रति यात्रा 100 रु। इस योजना में भी शामिल है। परिवहन के लिए अधिकतम कवरेज 1,000 रुपये है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का बहिष्करण

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना केवल आपातकालीन स्थितियों के लिए लागू होती है। कॉस्मिक सर्जरी और उपचार शामिल नहीं हैं। योजना में सूचीबद्ध कुछ चिकित्सीय स्थितियां केवल तभी कवर की जाती हैं जब वास्तविक चिकित्सा आपातकाल होता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड

स्मार्ट कार्ड का इस्तेमाल विभिन्न गतिविधियों के लिए किया जाता है जैसे कि लाभार्थी की फोटो और फिंगरप्रिंट के माध्यम से पहचान, रोगी के बारे में जानकारी इत्यादि।

स्मार्ट कार्ड का सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह है कि यह पूरे अस्पताल में नकद के बिना लेन देन और देश भर में कई भी इलाज करवाने के लिए इस योजना का लाभ लेने की पोर्टेबिलिटी को सक्षम बनाता है।

प्रमाणीकृत स्मार्ट कार्ड नामांकन स्टेशन पर लाभार्थी को सौंप दिया जाता है। बॉयोमीट्रिक सूचना विफल होने पर स्मार्ट कार्ड पर अंकित परिवार के मुखिया की फोटो को पहचान उद्देश्य के लिए उपयोग किया जा सकता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना हॉस्पिटल लिस्ट 

सार्वजनिक और निजी दोनों प्रकार के अस्पतालों की एक सूची नामांकन के समय लाभार्थी को प्रदान की जाती है। स्मार्ट कार्ड के साथ एक हेल्पलाइन नंबर भी दिया जाता है, जिससे जरुरत पड़ने पर सहायता ली जा सकती है।

योग्यता के मानदंडों के आधार पर, सार्वजनिक और निजी दोनों तरह के अस्पतालों को बीमा कंपनी द्वारा सूचीबद्ध किया जाता है। लाभार्थी के पास अस्पतालों का चयन करने का विकल्प होगा जहां वे जाना चाहते हैं।

इलाज के लिए 30000 रुपये तक का खर्च होने पर लाभार्थी को अस्पताल में कोई भुगतान नहीं करना होगा। कैशलेस सेवा के मामले में, रोगी को उपचार और अस्पताल में भर्ती करने के लिए कोई राशि वहन नहीं करनी पड़ेगी। बीमा कर्ता से इस राशि का दावा करना अस्पताल का काम है।

हालाँकि इस योजना के तहत मिलने वाली खर्च सीमा बहुत कम है लेकिन आपको चिंतित होने की कोई जरुरत नहीं हैं क्योंकि हाल ही में भारत सरकार के द्वारा एक राष्ट्रव्यापी महत्वकांशी योजना आयुष्मान भारत नाम से लांच की गयी है। इस योजना के लाभार्थियों को 5 लाख तक की खर्च सुविधा प्रदान की जाएगी जो किसी भी निजी बिमा पॉलिसी के मुकाबले कम नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.