Mukhyamantri Fellowship Yojana Kya Hai

Rate this post

Mukhyamantri Fellowship Yojana Kya Hai

यूपी सरकार ने कैबिनेट में UP CM Fellowship Yojana को मंजूर किया है। इस योजना के तहत 100 युवा सिलेक्ट होंगे 100 100 आकांक्षी विकास खंड ब्लॉक के लिए। इस योजना का फायदा खासकर रिसर्च लेवल के यूज़ के लिए होगा और उनकी मदद से फिर इस योजना से हम डेवलपमेंट काम ज्यादा तेजी से कर सकेंगे। साथ ही में युवा कई प्रकार के सुझाव भी देंगे जैसे की सर्विस में हेल्प करेंगे पढ़ाई में और कई प्रकार के डाटा कलेक्शन में, निगरानी में और योजनाओं के संचालन में आने वाली चुनौतियों का समाधान भी देंगे

  • इस योजना के अंतर्गत युवाओं को कई प्रकार की कामों में फायदा लिया जाएगा उनसे फिर उनको लगभग ₹30000 हर महीने उनको दिए जाएंगे उस काम करने के लिए । 
  • इसके अलावा हर महीने ₹10,000 भी देंगे टूर प्रोग्राम के लिए और ₹15000 भी दिए जाएंगे ताकि वह टेबलेट खरीद सकें जिससे कि युवाओं को काफी फायदा होगा इस डिजिटाइजेशन के जमाने में । 
  • जो भी युवा इस योजना के तहत सिलेक्ट किए जाएंगे उन्हें 1 साल तक इस प्रोग्राम में रखा जाएगा , अगर उनका काम डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट या डेवलपमेंट ऑफिसर को पसंद आ गया तो उनका यह 1 साल का पीरियड को बढ़ाया भी जा सकता है

UP Mukhymantri Fellowship Highligts

योजना का नामउत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना
कौन आवेदन कर सकता है?स्नातक जो अपने स्नातक में 60% अंक सुरक्षित कर सकते हैं और अनुसंधान की तलाश कर रहे हैं
चयनित होने वाले छात्रों की संख्या?केवल 100 छात्र
Online Application Startsचल रहा है
Last Date of Online Application?24th August
Official Websitehttp://cmfellowship.upsdc.gov.in/

डिपार्टमेंट जिसमें युवा काम करेंगे वह कौन-कौन से है

UP CM Fellowship Yojana के तहत जो युवा सिलेक्ट होंगे वह कुछ डिपार्टमेंट के लिए काम करेंगे अनुसंधान क्षेत्र के:

  • कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज,
  • वन, पर्यावरण और जलवायु
  • शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण, और कौशल; ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा
  • पर्यटन, सांस्कृतिक विरासत,
  • एआई, बायोटेक, एमएल, डेटा गवर्नेंस विमोचित अनुसंधान के क्षेत्र: बैंकिंग, वित्त और राजस्व
  • सार्वजनिक नीति, आदि।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के उद्देश्य

इस कार्यक्रम को शुरू करने का मुख्य कारण विकास खंड में युवाओं की ऊर्जा, प्रौद्योगिकी और नए विचारों का उपयोग करना है ताकि राज्य में पहले से चल रहे कार्यक्रम लोगों तक आसानी से पहुंच सकें। इस कार्यक्रम को शुरू करने का मुख्य कारण विकास खंड में युवाओं की ऊर्जा, प्रौद्योगिकी और नए विचारों का उपयोग करना है ताकि राज्य में पहले से चल रहे कार्यक्रम लोगों तक आसानी से पहुंच सकें।

UP CM Fellowship Yojana Benefits

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना जो कि आरंभ 2022 में हुई है यह केवल युवाओं को फायदा के लिए ही लांच की है तो इसके फायदे केवल युवाओं को ही मिलेंगे: 

  • सबसे पहले यह योजना रिसर्च स्टूडेंट्स जो है उत्तर प्रदेश के उनको हर महीने ₹30000 देगी और फायदा भी लेगी युवाओं से बदले में फायदा भी लेगी काफी सारे डिपार्टमेंट के लिए। 
  • इस योजना के अंतर्गत जो चुने हुए युवा है उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिससे कि वह फिर टैबलेट स्मार्टफोन ला सकेंगे ।
  • जो भी रिसर्च स्कॉलर्स है जिन्हें की हिंदी में शोध विद्वान बोलते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत ₹15000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिससे कि वह फिर स्मार्टफोन या टैबलेट खरीद सकेंगे जिससे कि उनको फिर आगे जाकर रिसर्च में काफी फायदा भी पहुंचेगा ।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना पात्रता मानदंड

UP CM Fellowship Yojana के पात्र हमने नीचे लिखे हैं: 

  • सबसे पहले यह योजना युवाओं के लिए ही है जोकि ग्रेजुएशन कर चुके और उनके ग्रेजुएशन में 60 परसेंट मार्क्स से पास हो चुके हैं ।
  • आवेदन करने वाले के पास कंप्यूटर और आईटी का ज्ञान होना अनिवार्य है जरूरी है ।
  • जैसे कि आप जानते हैं यह योजना युवाओं के लिए है तो इसमें आवेदक की उम्र 40 वर्ष से ज्यादा नहीं होनी चाहिए ।
  • आवेदक यूपी स्टेट का ही होना चाहिए वरना उसका फॉर्म रिजेक्ट हो जाएगा।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के तहत कार्य की रिपोर्टिंग

इस योजना के तहत शोधार्थी द्वारा संपादित किए जाने वाले कार्यों के संबंध में निम्नलिखित रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी।

  • मासिक प्रगति रिपोर्ट- इसमें शोधार्थी द्वारा नीति एवं योजना के कार्यान्वयन में आने वाली चुनौतियों और योजना के प्रति नागरिकों के दृष्टिकोण का उल्लेख किया जाएगा।
  • त्रैमासिक प्रगति रिपोर्ट- सचिव,नियोजन विभाग द्वारा त्रैमासिक प्रगति रिपोर्ट एवं प्रस्तुतीकरण की समीक्षा की जाएगी।
  • वार्षिक रिपोर्ट-  इस रिपोर्ट के आधार पर शोधार्थी द्वारा संपादित किए जाने वाले कामों का मूल्यांकन किया जाएगा।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के तहत चयन प्रक्रिया

  • जो इच्छुक पात्र युवा इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं वह नियोजन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन करते समय आवेदक को 500 शब्दों में उद्देश्य का विवरण भी अपलोड किया जाना अनिवार्य है। यदि आवेदक युवा 500 शब्दों के उद्देश्य का विवरण अपलोड नहीं करता है उसके आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा।
  • आवेदकों के आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों/विषय विशेषज्ञों की एक कमेटी का गठन किया जाएगा।
  • इसके अलावा शोधार्थियों का चयन करने में AKTU,NIUA एवं UPAAM जैसी विशिष्ट संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा।
  • इस कमेटी द्वारा आवेदन पत्र का परीक्षण किया जाएगा कि आवेदक सभी पात्र मानदंडों को पूरा करता है या नहीं। अगर आवेदक सभी पात्र मानदंडों को पूरा करता है उसके आवेदन को स्वीकार कर लिया जाएगा।

Note- जो आवेदन अस्पष्ट होंगे उन्हें परीक्षण करते समय हटा दिया जाएगा यानी उन्हें निरस्त कर दिया जाएगा।

युवाओं की 50 अंकों की जाएगी ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग

गठित स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा निम्नलिखित मानकों के आधार पर आवेदकों की ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग की जाएगी। यह मानक निम्नलिखित इस प्रकार है।

Serial noParticularMaximum Number
Aउच्चतम शैक्षिक योग्यता25
1 2 3स्नातक स्नातकोत्तर PhD (पूर्ण/थी सिस प्रस्तुत)15 20 25
Bअन्य विधिक मानदंड15
1 2 3 4 5प्रतिष्ठित संस्थान से डिग्री प्रतिष्ठित राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय प्रकाशनों में प्रकाशित शोध कार्य/ लेख राष्ट्रीय ,अंतरराष्ट्रीय संस्थानों एवं मंच द्वारा प्रदत्त पुरस्कार संगठनों के साथ स्वयंसेवा कोई अन्य विशिष्ट उपलब्धि03 03 03 03 03 03
Cप्रासंगिक कार्य अनुभव10
1 26 महा से 2 वर्ष 2 वर्ष से अधिक (पीएचडी डिग्री की अवधि को कार्य अनुभव नहीं माना जाएगा)05 05
 कुल योग50

UP CM Fellowship Yojana के तहत व्यक्तिगत साक्षात्कार

जिन युवाओं को UP CM Fellowship Yojana 2022 के तहत चयनित किया जाएगा उन्हें साक्षात्कार के समय अपने आवेदन पत्र के साथ संलग्न सभी अभिलेखों की मूल एवं स्व प्रमाणित प्रतिलिपि प्रस्तुत करनी होगी। साक्षात्कार के दौरान युवाओं के व्यक्तिगत, सामान्य ज्ञान एवं कार्य के प्रति उत्साह आदि का आंकलन किया जाएगा। इसके बाद अभ्यर्थी द्वारा आवेदन पत्र के साथ प्रस्तुत किए गए उद्देश्य का विवरण का संज्ञान लेते हुए अभ्यर्थियों को 25 अंकों में से स्कोर किया जाएगा। 100 अभ्यर्थियों को योजना के नियम एवं शर्तों के आधार पर चयन किया जाएगा। 50 अभ्यार्थियों को प्रतीक्षा सूची में रखा जाएगा। समान अंक लाने वाले अभ्यर्थियों में से जिसकी आयु अधिक होगी उसे वरीयता क्रम में ऊपर रखा जाएगा।

चयनित युवाओं को प्रदान किया जाएगा प्रशिक्षण

इस योजना के तहत जिन युवाओं का चयन किया जाएगा उन्हें 2 हफ्ते का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। प्रशिक्षण के पहले हफ्ते में सामान्य परिचय और दूसरे हफ्ते में कार्यक्रम विषय के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। यह प्रशिक्षण उत्तर प्रदेश  प्रशासनिक एवं प्रबंधन एकैडमी, लखनऊ द्वारा प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा प्रशिक्षण में IIT एवं IIM जैसी विशिष्ट संस्थाओं के विशेषज्ञों के लेक्चर कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएंगे। । नियोजन विभाग द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं कोर्स की विषय वस्तु के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासनिक एवं प्रबंधन एकैडमी से समन्वय किया जाएगा।

UP CM Fellowship Yojana से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • इस योजना के क्रियान्वयन एवं प्रबंधन का काम नियोजन विभाग द्वारा किया जाएगा।
  • यह कार्यक्रम एक पूर्णकालिक कार्यक्रम है। इसलिए चयन किए गए युवाओं को इस कार्यक्रम की अवधि के दौरान अन्य रोजगार, असाइनमेंट एवं अन्य पूर्णकालिक अध्ययन/कार्य आदि करने की अनुमति नही है।
  • यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना  फेलोशिप कार्यक्रम की अवधि पूरी हो जाने के बाद शोधार्थियों को स्थाई सेवा/ रोजगार प्रदान करने का आश्वासन नहीं देती है।
  • सभी चयनित युवाओं (शोधार्थियों) के लिए कार्यालय का समय वही होगा जो उस कार्यालय के अन्य कर्मचारियों के लिए है।
  • शोधार्थियों को आवश्यकतानुसार ज्यादा घंटे काम करने और यात्रा करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • युवाओं को फेलोशिप कार्यक्रम के तहत संबंधता के दौरान अपना मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट लेकर आना जरूरी है। युवाओं के चयन के बाद उनका पुलिस सत्यापन किया जाएगा।
  • चयनित युवाओं को प्रस्ताव पत्र प्राप्त होने के 30 कार्य दिवस में संबंध कार्यालय में योगदान प्रस्तुत करना होगा। वरना चयन को रद्द कर दिया जाएगा।
  • फेलोशिप कार्यक्रम के दौरान शोधार्थी किसी भी राजनीतिक आंदोलन में भाग नहीं ले सकता है।
  • जनपद/विकासखंड स्तर पर तैनात हुए शोधार्थियों को व्यापक भ्रमण करना पड़ सकता है।

यूपी के 34 जनपदों के 100 आकांक्षात्मक विकास खंडों की सूची

क्रमांक संख्याआकांक्षात्मक विकास खंडजनपद का नाम
1 2 3भीटी भियांव टाण्डाअम्बेडकर नगर
4 5 6जगदीशपुर जामों शुकुलबाजारअमेठी
7 8 9 10 11 12 13 14बांसडीह चिलकहर गरवार हनुमानगंज मनियर पन्दह रसड़ा सोहावंबलिया
15 16 17बबेरु बिसण्डा कमासिनबांदा
18कबरईमहोबा
19 20 21 22 23बहेड़ी फतेहगंज मझगांव रिच्छा (दमखौदा) शेरगढ़बरेली
24पूरनपुरपीलीभीत
25 26 27 28हरैया कुदरहा सल्टौवा गोपालपुर विक्रमजोतबस्ती
29 39 31बघौली पौली सांथासंतकबीर नगर
32 33कोतवाली नजीबाबादबिजनौर
34 35 36 37 38 39अम्बियापुर आसफपुर कादरचौक सलारपुर उसवां वजीरगंजबदायूं
40 41 42 43 44   45देवकली मरदाह रेवतीपुर सादात बाराछवार  बिरनोगाजीपुर
46गौरी बाजारदेवरिया
47 48 49बांसगांव ब्रह्मपुर कैंम्पियरगंजगोरखपुर
50विष्णुपुराकुशीनगर
51 52जालौन रामपुराजालौन
53मंडवाराललितपुर
54 55 56अनगढ़ जैथरा सकीटएटा
57 58नवाबगंज राजेपुरफर्रुखाबाद
59 60मछली शहर रामपुरजौनपुर
61औराईसंत रविदास नगर
62 63कौशांबी मंझनपुरकौशांबी
64 65 66बहरिया कोरांव मण्डाप्रयागनगर
67 68 69 70 71 72महाराजगंज मिठौरा नौतनवा निचलौल पनियरा परथावलमहाराजगंज
73 74 75बाभनजोत पन्धरी कृपाल रुपईडीहगोण्डा
76 77निंदूरा पुरेडलईबाराबंकी
78 79 80 81 82हलिया मरिहन (पटेहरा) नगर सिटी पहाड़ी राजगढ़मिर्जापुर
83 84 85 86बांकेगंज धौरहरा ईसानगर रमियाबेहड़खीरी
87सण्डीलाहरदोई
88बिसवांसीतापुर
89 90 91 92 93 94 95राजपुरा संभल असमोली असमोली गुन्नौर जुवई पवांसासंभल
96बैद्यनाथरामपुर
97गंगीरीअलीगढ़
98 99 100गंगीरी गंजडुंडवारा सौरोंकासगंज

वह डिपार्टमेंट जिसमें सभी युवा काम करेंगे जो कि निम्न है-

  1. कृषि ग्रामीण विकास पंचायती राज
  2. वन पर्यावरण और जलवायु
  3. शिक्षा स्वास्थ्य स्वच्छता पोषण और कौशल ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा
  4. पर्यटन संस्कृतिक विरासत
  5. एआई बायोटेक टेंपल डाटा गवर्नेंस विमोचन अनुसंधान के क्षेत्र जैसे कि बैंकिंग वित्त और राजस्व
  6. सार्वजनिक नीति और इत्यादि

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना का उद्देश्य क्या है?

UP CM Fellowship Yojana 2022 का उद्देश्य है जो कि 2022 में आरंभ की गई है और यह केवल युवाओं के फायदा के लिए ही से बनाया गया है और इसके बहुत सारे फायदा हैं जो सिर्फ युवाओं को ही मिलेंगे सबसे पहले योजना व युवाओं के लिए है जो रिसर्च स्टूडेंट है जो उत्तर प्रदेश के हैं और उनको हर महीने अब सरकार की तरफ से ₹30000 दी जाएगी और उसका फायदा भी सभी युवाओं को मिलेगा और उसके बदले में काफी सारे डिपार्टमेंट के लिए फायदा होंगे |

UP CM Fellowship Yojana 2022 के तहत वहीं युवाओं को इसका फायदा मिलेगा जो इसके लिए चुने जाएंगे और उनके लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे कि वह अपना टैबलेट स्मार्टफोन खरीद सकेंगे

जो भी इसके लिए रिसर्च सर्कल्स में जिन्हें की हिंदी में शुद्ध विद्वान बोलते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत 15000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे कि वह अपना स्मार्टफोन या टैबलेट खरीद सकेंगे जिससे कि उनको फिर आगे जाकर इसके बारे में सर्च में काफी मदद मिलेगा |

UP Mukhymantri Fellowship Yojana Registration

  • सवर्पर्थम आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको दिशा निर्देश को ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा।
  • आपको सभी शर्तें स्वीकार करते हुए Proceed ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने रजिस्टर फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको अब इस फॉर्म में अपनी सभी जरूरी जानकारी प्रदान करनी होगी जैसे नाम, जेंडर, जन्मतिथि, नागरिकता, बाप का नाम, मां का नाम, क्वालिफिकेशन, मोबाइल नंबर, एड्रेस, वगैरह
  • आपको अब अपने फोटो पर हस्ताक्सर करके अपलोड करना होगा।
  • इसके बाद आपको सभी जानकारी ध्यानपूर्वक पढ़नी होगी।
  • आपको अब अंत में सबमिट के बटन पर क्लिक्स करना होगा।
  • इस प्रकार से आप सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कर सकते है।

कैंडिडेट लॉगइन कैसे करें

  • आवेदक को सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
  • इस नए पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा।
  • अब आपको यहाँ पर अपना पासवर्ड भरना होगा।
  • अब आपको स्क्रीन पर मौजूद कैप्चा कोड दर्ज करना है
  • इसके बाद आपको लॉगिन का ऑप्शन पर क्लिक करना है

Leave a Comment

Your email address will not be published.