Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Registration Online

Rate this post

Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Registration Online

Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Registration | आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2022 आवेदन ऑनलाइन | Online Apply Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana | PM Atmanirbhar Bharat Rozgar Scheme In hindi

केंद्र सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2022 (Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana) एक नई Employment Scheme शुरू की है जिससे देश को बड़ा फायदा होगा Aatma nirbhar Bharat Rozgar Yojana की पूरी जानकारी यहां देखें सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत नौकरी के नए अफसरों को प्राप्त करने के लिए की गई है

COVID महामारी रिकवरी चरण के दौरान नए रोजगार के अवसरों को प्रोत्साहित करने के लिए Atmanirbhar Bharat Rogargar Yojana शुरू की गई है। 1 अक्टूबर 2020 को या उसके बाद लगे नए पात्र कर्मचारियों के संबंध में केंद्र सरकार दो साल के लिए सब्सिडी प्रदान करेगी।

देश में नए रोजगार के अफसरों के सृजन के लिए और साथ ही नई नौकरी योजना को प्रोत्साहित करने के लिए फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को लांच किया गया है और अब Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana को March 2022 तक ऑपरेशनल रखा जाएगा।

भारतीय अर्थव्यवस्था लंबे और सख्त COVID_19 लॉकडाउन के बाद एक मजबूत रिकवरी देख रही है। वित्त मंत्री ने विकास को बढ़ावा देने के लिए अधिक प्रोत्साहन उपायों की घोषणा की है और उल्लेख किया है कि macro-economic indicators पुनर्प्राप्ति की ओर इशारा कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा देश में मांग को बढ़ावा देने के लिए 2 लाख करोड़ रुपये के production-linked incentive (PLI) पैकेज को मंजूरी देने के एक दिन बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने इस योजना का संबोधन किया है।

मोदी सरकार ने इस राहत पैकेज आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कोरोना काल से उभर रहे भारत में रोजगार को और आगे बढ़ाने के लिए लॉन्च किया है मोदी सरकार नौकरी के लिए पलायन करने वाले मजदूरों के लिए एक खास तरह का वेब पोर्टल लांच करने का भी सोच रही है इसका मकसद नए रोजगारों को प्रोत्साहन देना होगा।

इस योजना के तहत जो कंपनियां नए लोगों को रोजगार दे रही यानी बे उम्मीदवार जो पहले EPFO मैं कवर नहीं थे उन्हें इसका डायरेक्ट लाभ होगा, महीने की 15000 से कम सैलरी वालों या फिर 1 मार्च 2020 से लेकर 31 सितंबर 2020 के बीच नौकरी गवाने वालों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा यह योजना 1 अक्टूबर 2020 लागू है

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana Highlights

योजना का नामआत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021
द्वारा प्रायोजितकेंद्र सरकार
किसने शुरू कीनिर्मला सीतारमण
Launch Date12 नवंबर 2020
योजना की अवधि2 साल
उद्देश्यरोजगार के अवसर प्रदान करना
लाभार्थीनए कर्मचारी
आधिकारिक वेबसाइटepfindia.gov.in

Eligibility Criteria for Establishments Under ABRY

EPFO सदस्य 15,000 रुपये से कम मासिक वेतन पाते हैं जिन्होंने 1 मार्च 2020 से 30 सितंबर 2020 तक COVID महामारी के दौरान रोजगार से बाहर कर दिया था और 1 अक्टूबर 2020 को या उसके बाद कार्यरत हैं।

पात्र नए कर्मचारियों के Aadhaar seeded EPFO Account (UAN) में क्रेडिट अपफ्रंट प्राप्त करने के लिए सब्सिडी का समर्थन किया जाएगा।

सितंबर 2020 में कर्मचारियों के संदर्भ आधार की तुलना में नए कर्मचारियों को जोड़ने पर ईपीएफओ के साथ पंजीकृत प्रतिष्ठान – यदि संदर्भ आधार 50 कर्मचारी या उससे कम है तो 2 नए कर्मचारियों की संख्या। यदि संदर्भ आधार 50 कर्मचारियों से अधिक है, तो 5 नए कर्मचारियों की न्यूनतम।

सभी नए कर्मचारियों के लिए सब्सिडी पाने के लिए आत्मानबीर भारत रोजगार योजना शुरू करने के बाद ईपीएफओ के साथ पंजीकरण करने वाले प्रतिष्ठान।

Reuters news agency New Report

समाचार एजेंसी Reuters की एक रिपोर्ट के अनुसार, दिवाली से आगे का पैकेज, अर्थव्यवस्था की मदद के लिए कुल 1.48 लाख करोड़ का प्रोत्साहन दे सकता है। आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज में एमएसएमई, ग्रामीण और शहरी आय समूहों और क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना है। आतिथ्य और विमानन के रूप में। 19 अक्टूबर को, वित्त मंत्री ने कहा था कि सरकार ने अर्थव्यवस्था की मध्य वर्ष की समीक्षा शुरू कर दी है और विभिन्न तिमाहियों और उद्योग निकायों से मांग के बाद एक और प्रोत्साहन पैकेज देने के लिए तैयार है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन 2022

जो कर्मचारी, संस्था तथा लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें भविष्य निधि ईपीएफओ के अंतर्गत अपना पंजीकरण करवाना होगा। पंजीकरण करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है।

नियोक्ताओं के लिए

  • सबसे पहले ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/ पर जाएं
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर जाएगा।
  • अब आपको सर्विसेस के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब यहाँ पर आपको एंपलॉयर्स के टैब पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर एस्टेब्लिशमेंट के लिंक पर क्लिक करना है।
  • इसके पश्चात यदि आप श्रम सुविधा पोर्टल पर पंजीकृत है तो आपको यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगइन करना होगा।
  • यदि आप पंजीकृत नहीं है तो आपको Sign Up के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर बता वेरीफिकेशन कोड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आवेदन प्रक्रिया सफलतापूर्वक हो जाएगी।

कर्मचारी के लिए

  • कर्मचारी सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • होम पेज पर आपको सर्विसेस के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Employees के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको Register Here के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा।

योजना के बजट को बढ़ाकर किया गया 6400 करोड़

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को रोजगार प्रदान करने के लिए नियोक्ताओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत वित्त मंत्रालय द्वारा वर्ष 2022-23 के बजट को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। पहले इस योजना का बजट 3130 करोड़ रुपए था जिसे अब बढ़ाकर 6400 करोड रुपया कर दिया गया है। Aatmnirbhar Bharat Rojgar Yojana के माध्यम से सरकार द्वारा ईपीएफ में कर्मचारी शेयर का भुगतान किया जाता है। इस योजना का लाभ वह सभी कर्मचारी उठा सकते हैं जिनकी वेतन ₹15000 या फिर इससे कम है।

इसके अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा लेबर एंड एंप्लॉयमेंट मिनिस्ट्री एक्सपेंडिचर को 13306.50 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 16893.68 करोड़ रुपए कर दिया गया है। मिनिस्ट्री द्वारा सभी असंगठित क्षेत्र के कामगारों को श्रम पोर्टल पर रजिस्टर किया जा रहा है। पहले यह कार्य करने के लिए 150 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया था जिसे बढ़ाकर 500 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

योजना के माध्यम से प्रदान की गई 40 लाख नौकरियां

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कोरोना महामारी के कारण पिछले दिनों कई लोगों की नौकरियां चली गई है। इस स्थिति में लोगों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से सरकार द्वारा Aatmnirbhar Bharat Rojgar Yojana का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से करीब 40 लाख लोगों को नौकरियां प्राप्त हुई है। 27 नवंबर 2021 तक कुल 39.59 लोगों को नौकरियां प्रदान की जा चुकी है। इन सभी नागरिकों को 1.16 लाख प्रतिष्ठानों के माध्यम से प्रदान किया गया है। इस बात की जानकारी श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री रामेश्वर तेली द्वारा प्रदान की गई। इस योजना को आत्मनिर्भर भारत पैकेज के अंतर्गत लांच किया गया था। वह सभी कंपनियां इस योजना का लाभ उठा सकते हैं जो ईपीएफओ के अंतर्गत रजिस्टर्ड है।

1000 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों को प्रदान कि जाएगी दोहरी सब्सिडी

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ उठाने के लिए 50 कर्मचारियों से कम वाली कंपनियों को कम से कम 2 नए कर्मचारी को नौकरी प्रदान करनी होगी। इसी तरह 50 से अधिक कर्मचारी वाली कंपनियों को सब्सिडी का लाभ प्राप्त करने के लिए 5 नए नागरिकों को नौकरी प्रदान करनी होंगी। यदि प्रतिष्ठान में कर्मचारियों की संख्या 1000 तक है तो उनको दोहरी सब्सिडी प्रदान की जाती है। ऐसी सभी कंपनियों के कर्मचारियों को वेतन का 24% हिस्सा सब्सिडी के रूप में प्राप्त होता है। जिसमें कंपनी एवं कर्मचारी दोनों के हिस्से का 12-12% पीएफ कंट्रीब्यूशन शामिल होता है। सभी 1000 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों को 12% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह सब्सिडी 2 वर्ष तक प्रदान की जाएगी।

पंजीकरण की अंतिम तिथि का किया गया विस्तार

Aatmnirbhar Bharat Rojgar Yojana को अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से नियोक्ताओं को रोजगार सृजित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। यह योजना आत्मनिर्भर भारत 3.0 पैकेज के अंतर्गत घोषित कि गई थी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत पंजीकरण की अंतिम तिथि 30 जून 2021 निर्धारित की गई थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर दिया गया है। नागरिकों द्वारा आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से इस योजना के अंतर्गत आवेदन किया जा सकता है। ईपीएफ और एमपी अधिनियम 1952 के अंतर्गत पंजीकृत होने वाले नए कर्मचारी एवं नए प्रतिष्ठान 31 मार्च 2022 तक इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण कर सकते हैं।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना स्टैटिसटिक्स

प्रतिपूर्ण की गई राशिRs 3457.08 crore
लाभवंती हुए प्रतिष्ठान1,27,348
लाभार्थियों की संख्या47,04,338

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का मूल्यांकन

  • ईपीएफओ द्वारा इस योजना को बंद होने से पहले 3 महीने की अवधि के भीतर योजना का तीसरा पक्ष मूल्यांकन किया जाएगा एवं डीजीई, श्रम और रोजगार मंत्रालय भारत सरकार को एक रिपोर्ट भेजी जाएगी।
  • योजना के मूल्यांकन पर होने वाला खर्च ईपीएफओ द्वारा अपने संसाधनों से वहन किया जाएगा।

Aatmnirbhar Bharat Rojgar Yojana का निगरानी तंत्र

  • ईपीएफओ द्वारा साप्ताहिक आधार पर इस योजना के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए एक तंत्र स्थापित किया जाएगा।
  • इस योजना के प्रभावी निगरानी के लिए श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार को ईपीएफओ द्वारा मासिक रिपोर्ट प्रदान की जाएगी।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का कार्यान्वयन

  • इस योजना को लागू करने के लिए ईपीएफओ द्वारा एक सॉफ्टवेयर विकसित किया जाएगा।
  • इसके अलावा एक ऐसी प्रक्रिया भी विकसित की जाएगी जो पारदर्शी और जवाबदेही हो।
  • सॉफ्टवेयर के माध्यम से नियुक्तओ तथा कर्मचारियों के लिए पात्रता मानदंड को स्पष्ट रूप से परिभाषित किया जाएगा।
  • ईपीएफओ द्वारा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से ईपीएफ के सदस्यों के आधार से जुड़े खाते में धनराशि जमा की जाएगी।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से संबंधित महत्वपूर्ण निर्देश

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए नियुक्त आपको अपने प्रतिष्ठान को इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत करवाना होगा।
  • नियुक्ता को यह सुनिश्चित करना भी अनिवार्य है कि नियोक्ता द्वारा ईपीएफओ के साथ अद्यतन स्वामित्व रिटर्न पहले से ही दाखिल किया गया है।
  • किसी भी कर्मचारी को रोजगार में लेने से पहले नियोक्ता द्वारा पिछले संस्थान के संबंध में ईपीएफ सदस्य अकाउंट नंबर आदि कि स्व घोषणा लेना अनिवार्य है।
  • नियोक्ता द्वारा एक इलेक्ट्रॉनिक चालान कम रिटर्न सभी कर्मचारियों के संबंध में फाइल करना अनिवार्य है।
  • इस योजना के अंतर्गत अक्टूबर 2020 से जून 2021 तक आवेदन किया जा सकता है।
  • पंजीकरण के 24 महीनों तक इस योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
  • प्रतिष्ठान द्वारा इसीआर की फाइलिंग समय से करना अनिवार्य है।
  • यदि कोई नया प्रतिष्ठान ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकृत होता है तो इस स्थिति में कर्मचारियों का रेफरेंस बेस जीरो माना जाएगा।
  • नियुक्ता को कर्मचारियों से संबंधित सभी सही जानकारी इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रदान करनी होगी। यदि नियोक्ता ने इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए कोई गलत जानकारी दर्ज की है तो इस स्थिति में नियुक्त को दोषी माना जाएगा।
  • यदि नियुक्त द्वारा कर्मचारी के वेतन से पीएफ की राशि काटी जाती है तो इस स्थिति में नियुक्ता के खिलाफ लीगल एक्शन लिया जाएगा।
  • कोई पात्र कर्मचारी एक जॉब छोड कर दूसरी जॉब करता है तो इस स्थिति में भी उसको इस योजना का लाभ प्राप्त होता रहेगा।
  • यदि कोई पात्र कर्मचारी किसी अपात्र संस्थान में नौकरी करता है तो इस स्थिति में उसको इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।
  • यदि किसी पात्र कर्मचारी की वेतन ₹14999 से अधिक हो जाती है उसको इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.